rail-vihar-alfa-1 Seals

ग्रेटर नोएडा: ग्रेटर नोएडा में कोरोना वायरस के संक्रमण का पहला मामला सामने आया है। शहर के अल्फ़ा-1 सेक्टर में रहने वाले एक शख्स में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।  रेल विहार अल्फ़ा-1 की आवासीय सोसाइटी में रहने वाले एक 31 वर्षीय व्यक्ति को शनिवार देर रात कोरोना वायरस (COVID-19) का पॉजिटिव पाया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक यह व्यक्ति हाल ही में दुबई से लौटा था और उसका नमूना 18 मार्च को परीक्षण के लिए ले जाया गया था। स्वास्थ्य अधिकारियों को नेशनल सेंटर फ़ॉर डिज़ीज़ कंट्रोल द्वारा शनिवार रात लगभग 9.30 बजे सूचित किया गया कि वह व्यक्ति कोरोना (COVID-19) पॉजिटिव है। कोरोना संक्रमित व्यक्ति को ग्रेटर नोएडा के राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (GIMS) के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। वह दुबई से लौटा था और कोरोना के लक्षण दिखने के बाद उसका नमूना एकत्र किया गया था।

rail-vihar-alfa-1जिसके बाद आज गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह ने आदेश जारी कर ग्रेटर नोएडा के सेक्टर अल्फा वन को पूरी तरह सील कर दिया गया है। कोरोना वायरस से पीड़ित युवक सेक्टर के एक ब्लॉक में मिला था लेकिन सुरक्षा उपायों के मद्देनजर पूरे सेक्टर और सेक्टर में तमाम हाउसिंग सोसायटी को लॉक डाउन करने का आदेश जारी किया गया है। यह पाबंदी 22 मार्च कि सुबह 10:00 बजे से 24 मार्च की शाम 7:00 बजे तक लागू रहेगी। इस दौरान सेक्टर में किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जाएगा और सेक्टर से बाहर भी किसी को निकलने नहीं दिया जाएगा। इसी तरह हाउसिंग सोसायटीज में भी लोग अपने घरों में रहेंगे। सेक्टर में लोग एक दूसरे के घर में आवागमन नहीं करेंगे। इस बंदी के दौरान सेक्टर को सेनेटाइज किया जाएगा। जिलाधिकारी ने बताया कि अगर कोई आपातकालीन अथवा अपरिहार्य परिस्थिति है तो सेक्टर के निवासी जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग से संपर्क करके जानकारी दे सकते हैं। सेक्टर में तैनात सुरक्षा कर्मियों और पुलिस कर्मियों को भी यह जानकारी दी जा सकती है। सैनिटाइजिंग का काम पूरा होने तक सोसाइटी को अस्थायी अवधि के लिए सील कर दिया जाएगा। यह ग्रेटर नोएडा का पहला मामला है, जबकि गौतमबुद्ध जिले का छठा मामला है। हालाँकि जिले में अब तक कोरोनो वायरस के प्रकोप से कोई मौत नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें:

बिहार में कोरोना वायरस से पहली मौत, 38 साल के शख्स ने तोड़ा दम