Jio Informatics Technology and Career Opportunity

देवप्रयाग: ओंकारानन्द सरस्वती राजकीय महाविद्यालय देवप्रयाग, भूगोल विभाग तथा नेत्रा इंस्टीट्यूट आॉफ जियो इनफॉर्मेटिक्स मैनेजमेंट एण्ड कैरियर अर्पार्चुनिटी विषय पर आज राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित किया गया. जिसमें बतौर मुख्य अतिथि प्रोफेसर पी.के. पाठक निदेशक उच्च शिक्षा, उत्तराखंड तथा महाविद्यालय की प्राचार्य प्रो. वंदना शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी का वर्तमान समय में व्यापक उपयोग निरंतर बढ़ता जा रहा है। इसलिए प्रत्येक विद्यार्थी को जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी के ज्ञान को अपनाने की आवश्यकता है। राष्ट्रीय वेबिनार के आयोजक डॉ. गुरु प्रसाद थपलियाल ने कहा जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी सामाजिक विज्ञान एवं विज्ञान तथा इंजीनियरिंग के बीच की कड़ी है। जिसमें जीआईएस, जीपीएस के माध्यम से सामाजिक आर्थिक सांस्कृतिक तथा प्रबंधन एवं सतत् विकास के लिए उपयोग में लाया जा सकता है।

प्रोफेसर महावीर सिंह नेगी ने विषय विशेषज्ञ के रुप में जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी का आपदा प्रबंधन, आर्थिक विकास एवं सामाजिक विकास में तकनीकी उपयोग के विषय में विस्तार से बताया।

एनआईजीएमटी के हेड रबिन्द्र नाथ तिवारी ने जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी का विस्तार से वर्णन करते हुए उसके उपयोग पर प्रकाश डाला। साथ ही छात्र/छात्राओं को जियो इनफॉर्मेटिक्स टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में किस प्रकार अवसर प्राप्त हो सकते हैं और यह टेक्नोलॉजी किस प्रकार रोजगार परक हो सकती है इस विषय पर व्याख्यान दिया।

अन्त में वेबिनार के कन्वीनर डॉ. दिनेश नेगी ने वेबिनार में सम्मिलित सभी प्रबुद्धजनों, प्राध्यापकों एवं छात्र/छात्राओं का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक सहित प्रोफेसर बी.पी. नैथानी, डॉ. मीनाक्षी वर्मा, डॉ. आशुतोष जगवाण, डॉ. सौम्या कबटियाल, डॉ. कंचन सिंह, डॉ. निशान्त भट्ट, मदन सिंह बिष्ट ने प्रतिभाग किया।