राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली सयुक्त मोर्चा पुरानी पेंशन बहाली मांग को लगातार हर पटल से हर पर्व त्यौहार पर गंभीरता पूर्वक उठा रहा है। इसीक्रम में मकर संक्रांति पर्व पर पतंग महोत्सव में भी एनपीएस कार्मिकों ने अपने परिवारजनों के साथ पतंग पर पुरानी पेंशन बहाली मांग को लिख कर आसमान में खूब उठाया। राष्ट्रीय अध्यक्ष बी पी सिंह रावत ने कहा है कि आज हर तरफ एनपीएस कार्मिकों की मांग पुरानी पेंशन बहाली वाली पतंग ही दिखाई दे रही थी। उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन बहाली मांग 2022 पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव में निर्णायक भूमिका में रहेगी।

बी पी सिंह रावत ने बताया कि एनपीएस कार्मिक एवं परिवारजन, मित्रजन सभी पुरानी पेंशन बहाली के नाम वोट करने का विचार करेगे। पतंग महोत्सव पर गंभीरता पूर्वक पुरानी पेंशन बहाली मांग सबसे ज्यादा उत्तराखंड, गुजरात, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, मध्य प्रदेश राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल के एनपीएस कार्मिकों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जिसमे राकेश कंधारिया, डा पंकज प्रजापति, नरेंद्र गोहिल, महेंद्र रेवाड़ी, विक्रम सिंह रावत, सीताराम पोखरियाल, अनिल स्वदेशी, संजय शर्मा, वीरेंद्र दुबे, मृग नयनी सलाथिया, गुल जुबेर डेंग आदि ने मुख्य रूप से सफल बनाया है।