kanskhet

कल्जीखाल: दुनियाभर में महामारी बन चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से देशवासियों को बचाने के उद्देश्य से 24 राज्यों के करीब 560 जिलों/शहरों में लॉकडाउन कर दिया गया है। उत्तराखंड में भी 31 मार्च तक लॉकडाउन किया गया है। वहीँ आज मंगलवार को प्रदेश में जनता कर्फ्यू के तहत धारा 144 लागू की गई है। जिसमें केवल जरूरी वस्तुए खाद्य सामग्री, दूध, दवाइयां इत्यादि की दुकानें सुबह 7 से 10 बजे तक ही खुलेगी जिसमें बैकिंग सेवा भी हैं। इसका असर ग्रामीण क्षेत्रो में भी देखा गया।

kanskhet lockdown-kaljikhal

हमारे ग्रामीण संवाददाता ने कल्जीखाल ब्लॉक के भेटी, मुंडेश्वर, कल्जीखाल बाजार, कांसखेत, घण्डियाल, बनेख आदि छोटे-छोटे बाजारों का जायजा लिया। 10 बजे के बाद लॉकडाउन के तहत धारा 144 का पूरी तरह पालन करवाने में राजस्व पुलिस का सहयोग रहा। लॉकडाउन को सफल बनाने में घण्डियाल क्षेत्र में युवा सगठन समिति के सदस्यों ने क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक अरविंद पटवाल एवं भुवनेश पडियार का सहयोग किया। वही बनेख क्षेत्र में समाजसेवी अशोक रावत, डाक्टर गिरीश नैथानी ने राजस्व उपनिरीक्षक बेलम सिंह भण्डारी का सहयोग किया। कल्जीखाल बाजार में राजस्व उपनिरीक्षक बिपिन कुमार, पंकज रावत एवं उनकी टीम के साथ कनिष्ठ प्रमुख अर्जुन सिंह पटवाल, व्यापार संघ अध्यक्ष कल्जीखाल भक्तदर्शन नेगी, अजय पटवाल, विक्रम सिंह पटवाल, सुनील स्वामी का सहयोग रहा। भेटी, मुंडेश्वर में मनोज कुमार, ताराचंद, स्वेता राजस्व उपनिरीक्षक गस्त करते हुए एवं बाहरी व्यक्तियों की आवाजाही पर नझर बनाए हुए थे। रिपोर्ट जगमोहन डांगी।