उत्तराखंड में इन दिनों नया भू-कानून बनाने अलावा चकबंदी को लेकर भी आवाज उठने लगी है. पहाड़ी क्षेत्रों में खेती बचाने के लिए चकबंदी बेहद जरुरी है. इसके लिए चकबंदी आंदोलन के प्रणेता गणेश गरीब तथा चकबंदी आंदोलन जुड़े वॉयस ऑफ माउंटेन चैनल के हेड जगमोहन जिग्ज्ञासु भी कई वर्षों से लगातार आवाज उठा रहे हैं. ऐसे में उस्ताद बिस्मिल्ला खां पुरस्कार से सम्मानित उत्तराखंड की लोक गायिका आशा नेगी का पहाड़ों में चकबंदी को लेकर एक शानदार गीत आओ रे आओ चकबंदी लाओ” हाल ही में यूट्यूब चैनल पर रिलीज हुआ है. जिसमे उन्होंने पहाड़ों में खेती बचाने के लिए चकबंदी को जरुरी बताते हुए युवाओं से गाँव लौटकर चकबंदी कर अपनी पुरखों की जमीन बचाने का आवाहन किया है. जिसके बाद निश्चित तौर पर चकबंदी आंदोलन को मजबूती मिलेगी. इस गीत को सुनने के लिए नीचे दिए गए यूट्यूब लिंक पर क्लिक करें.

यह भी पढ़ें:

“रंगीली पिछोड़ी मधु” वीडियो गीत यूट्यूब चैनल पर हुआ रिलीज़